What can Trump face over China before leaving the presidency? Read here | spcilvly

ऐप पर पढ़ें

अमेरिका में जो बाइडेन चुनाव जीत चुके हैं और अग Article article ि ट्रंप इतनी आसानी से अपना कार्यकाल नहीं च ंगे। More information ं ज िससे बाइडेन को अपने शुरुआती महीनों में परेश ान ी हो।
विशेषज्ञों ने कहा कि दक्षिण चीन मॉर्निँ ट में -19 महा -19 महा मारी और संयुक्त राज्य अमेरिका की आर्थिक स ्थिति यों के लिए बीजिंग को दोष देने के लिए बार-बा र किए गए प्रयासों को देखते हुए लगता है कि उनका ल क्ष्य चीन हो सकता है। चीन मून स्ट्रैटेजीज के प्रमुख और पूर्व राष्ट् ” -19 के लिए दंडित करने का वादा क “

वीजा अवरुद्ध करने के प्रयास
– More information क रने का एक तरीका संभवतः ताइवान को भी शामिल कर स क ता है। शिनजियांग में उइगरों की सामूहिक नजरबंदी के लि ए चीन को नरसंहार का दोषी करार देने के संभावित व िस्फोटक कदम से परे, ट्रंप अधिक कम्युनिस्ट पार् ट ी के अधिकारियों के लिए वीजा को अवरुद्ध करने का 2022 एथलीटों को आदेश देने की कोशिश करके पर ेशानी खड़ी कर सकते ह ैं।

ऐप बैन
ट्रंप के दूसरे विकल्पों में टिकटॉक और वीचैट क े बाद चीन के दु .
कॉर्नेल विश्वविद्यालय की और सरकारी प्र ोफेसर, सारा क्रेप्स कहती हैं “चीन शक्ति पिछले चार वर्षों में बढ़ गई है … इसलिए मैं उम्मीद करुंगी कि बाइडेन की नीतियों ट्रंप ट्रंप प्रशासन के ज ैसी कुछ समानताएं समानताएं” प्यू प्यू सेंटर के के सार, 73 प्रतिशत अमेरिकियों ख ारात् मक दृष्टिकोण रखा है, पिच
डेमोक्रेटिक राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बि डेन को अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के विजेता घ ो षित किया गया जिसके बाद ट्रंप ने खुद को हारा हुआ मानने से इनकार कर दिया और उन्होंने इसे कानूनी च ुनौती देने का फैसला लिया है। इस बीच, अमेरिकी सरकार ने पहले पूर्वी तुर्किस् तान इस्लामिक मूवमेंट को आतों की अप नी सूची से लग भग दो दशकों के बाद हटा दिया, जिसके क ारण चीन के ए ंटी-टॉक्सिक प्रीटेक्स्ट के कमजोर प ड़्षे त्र मे ं उइगर पर दरार का खतरा बना हुआ है ।

– उनसे बात, चुनावी नतीजे स्वीकार करने को कहा
शिनजियांग में चीन की नीतियों की निंदा के बीच अ मेरिका का यह कदम आया है, जहां मुस्लिम अल्पसंख्य कों की बड़ी आबादी को फिर से शिक्षा शिविरों में र खा गया है। अमेरिकी अधिकारियों और संयुक्त राष्ट्र के विश ेषज्ञों के अनुसार, शिनजियांग में लगभग सात प्रत “” के विस्तार नेटवर्क में है। More information

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *